27.4.11

प्रोजेक्ट ऐरो का उदघाटन

कोटपूतली। भारतीय डाक विभाग की ओर से संचालित प्रोजेक्ट ऐरो के तहत केन्दzीय सूचना एवं संचार प्रौधोगिकी राज्य मंत्राी सचिन पायलट ने कोटपूतली डाकघर के आधुनिकीकरण किए गये भवन का फीता काटकर उद~घाटन किया। साथ ही कोटपूतली डाकघर से वेब काWन्Ýेसिंग के जरिए शाहपुरा डाकघर में प्रोजेक्ट का शुभारंभ किया। बाद में राजकीय सरदार स्कूल प्रांगण में उपस्थित जन समूह को संबोधित करते हुए पायलट ने कहा कि दे’ा में एक लाख पचपन हजार पोस्ट आWफिस हैं जिनको प्रोजेक्ट के तहत आपस में जोड़ने में 1877 करोड़ रूपये खर्च होगें तथा इस प्रोजेक्ट को वर्ष 2012 तक पूर्ण करने का लक्ष्य है। इस अवसर पर पायलट ने गzामीण डाक सेवा पुस्तक का विमोचन भी किया।
    इस अवसर पर क्षेत्राीय विधायक रामस्वरूप् कसाना, चौमूं विधायक भगवान सिंह व मुख्य पोस्ट मास्टर जनरल राजीव सिंह, डाक सेवा निदेशक अशोक कुमार, सहायक पोस्ट मास्टर जनरल दुश्यंत मुद~गल सहित अनेक अधिकारी व जनप्रतिनिधि मौजूद थे।

26.4.11

शहीद की शहादत को सलाम...कोटपूतली तहसील के मोलाहेड़ा गांव का कैलाश गुर्जर जम्मू-कश्मीर में आतंकवादियों से मुठभेड़ में हुआ शहीद शहीद की अंतिम यात्रा में शामिल हुए हजारों क्षेत्रवासी व प्रशासनिक अधिकारीगण व जनप्रतिनिधि

शहीद की शहादत को सलाम...


कोटपूतली तहसील के मोलाहेड़ा गांव का कैलाश गुर्जर जम्मू-कश्मीर में आतंकवादियों से मुठभेड़ में हुआ शहीद
शहीद  की अंतिम यात्रा में शामिल हुए हजारों क्षेत्रवासी व प्रशासनिक अधिकारीगण व जनप्रतिनिधि
कोटपूतली। गत 23 अप्रैल को जम्मू-कश्मीर के गुल इलाके में आतंकवादियों से हुई जबरदस्त मुठभेड़ में कोटपूली तहसील के गांव मोलाहेड़ा निवासी श्योराम गुर्जर का पुत्र कैलाश गुर्जर शहीद हो गया। गुर्जर के मुठभेड़ के दौरान सीने में तीन गोलियां लगी। यह जानकारी जिला सैनिक कल्याण अधिकारी राजेश कुमार ने दी।
कोटपूतली के लाल कैलाश गुर्जर के शहादत की खबर मिलते ही समूचा क्षेत्र गांव मोलाहेड़ा शहीद के परिवारजनों को सांत्वना देने पहुंच गया और शहीद की अंतिम यात्रा में शामिल होकर श्रद्वांजलि अर्पित करते हुए खुद को गौरवांवित महसूस किया।
शहीद कैलाश गुर्जर सेना की 58 राजपूत राईफल रेजिमेंट में 9 साल पूर्व भर्ती हुआ था तथा गत माह ही 15 दिवस की छुट~टी काटकर ड~यूटी पर गया था। शहीद के एक 1 साल की लड़की व 3 साल का लड़का है। अंतिम संस्कार के दौरान 3 वर्षीय अमित ने ही पिता को मुखाग्नि दी। शहीद को आज सुबह 11 बजे पूरे सैनिक सम्मान के साथ अंतिम विदाई दी गई।

8.4.11

नारेहड़ा में मिले 200 चांदी के मुगलकालीन सिक्के

कोटपूतली। नारेहड़ा की राजकीय प्राथमिक विद्यालय में पानी की टंकी के लिए की जा रही खुदाई के दौरान प्राचीनकालीन सिक्के प्राप्त हुए है। प्र’ाासन के अनुसार से सिक्के चांदी के हैं तथा उर्दु या अरबी भाषा लिखी होने के कारण मुगलकाल के हो सकते हैं। सिक्के मिटटी की एक छोटी मटकी में थे तथा उस पर एक उससे भी छोटा मिटटी का बर्तन रखा था। गांव वालों की सूचना पर पहुंचे एसडीएम दिने’ा जांगिड ने गzामीणों के सामने मटकी से सिक्कों को निकाला और गिनती की। आज के पांच रूपए के आकार के ये सिक्के गिनती में 200 थे।
    गांव मे सिक्के निकलने की खबर के साथ ही सोना निकलने की अफवाह भी फैली जिसके कारण पूरा गांव इन्हें देखने के लिए उमड़ पड़ा। प्राचीन कालीन ये सिक्के आसपास के गांवों में भी कौतुहल का विषय बने रहे। प्र’ाासन ने इन्हें अपने कब्जे में लेकर पुरातत्व विभाग को भेज दिया है। इस अवसर पर एसडीएम ने खुदाई करने वाले दोनों मजदूरों प्रदीप सिंह व कमल सिंह की ईमानदारी पर खुश होते हुए इन्हें आगामी स्वतंत्रता दिवस पर उपखण्ड स्तरीय समारोह में सम्मानित करने की बात कही है।

4.4.11

लाखों की राह में अतिक्रमण के रोड़े

    कोटपूतली। शहर में दिनों दिन बढ़ रहा अतिक्रमण अब शहर नगरपालिका पर ही भारी पड़ने लगा है। यहां पंचायत समिति के सामने करीब 20 लाख की लागत से सड़क का निर्माण कार्य कराया जा रहा था, लेकिन इस राह में आगे अतिक्रमण होने के कारण सड़क निर्माण कार्य अब अधूरा ही छोड़ दिया गया है।
    उल्लेखनीय है कि यह सड़क तहसील की कई पंचायतों को शहर से जोड़ती है लेकिन सड़क किनारे वर्षों पुराने निर्माण कार्य होने के कारण अब इस राह के ‘कांटे सुलझाना’ नगरपालिका के लिए कठिन हो गया है।  इस सबंध में पूर्व में नगरपालिका चेयरमेन रहे वर्तमान चेयरमेनपति प्रकाश चंद सैनी कहना है कि सड़क पर कई प्रभावशाली लोगों ने अतिक्रमण कर रखा है जिनको अतिक्रमण हटाने के लिए नोटिस दिया गया था लेकिन अब उनके द्वारा कोर्ट स्टे लेने के कारण सड़क निर्माण कार्य आगे नहीं बढ़ पा रहा है। सैनी ने रोष व्यक्त किया कि लोग विकास के कार्यों के प्रति सजग नहीं हैं, फालतु का अडंगा लगाकर विकास कार्यों को रोकने की कौशिश करते हैं। इसमें प्रशासन को भी सजग रहने की आवश्यकता है कि कोई बेवजह स्टे लेकर समय बर्बाद ना करे। वैसे नगरपालिका कानून 2009 की धारा 245 के अनुसार अतिक्रमणकारी को 3 साल तक की सजा हो सकती है।
    यह सड़क वर्तमान में पंचायत समिति से नागाजी की गौर तक बनायी जानी है, जिसकी दूरी लगभग 370 मीटर और इस पर लागत करीब 20 लाख होगी।