9.10.15

खून से लाल है डामर, होटल दीवान से कोटपूतली चैराहे तक

https://www.facebook.com/vikasverma.kotputli

खून से लाल है डामर, होटल दीवान से कोटपूतली चैराहे तक
पर अफसोस, हर बार सीने पर आश्वासनों की डामर बिछाई जाती है।
मानो जैसे सही कह रहा हो यह खूनी ट्रक ‘ग्रेट इंडिया’ 
'एक और तमन्ना' ''प्राण जाए पर वचन ना जाए'' ‘ओवरलोड लेकर चलेगें ही?


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें