1.3.15

बानसूर को चाहिए सरकारी काॅलेज

बानसूर को चाहिए सरकारी काॅलेज
बानसूर। बानसूर से सरकारी काॅलेज की मांग उठने लगी है। इसको लेकर 2 मार्च को बानसूर एसडीएम ममता यादव को शिक्षामंत्री के नाम छात्र शक्ति की ओर से एक ज्ञापन भी सोंपा जाएगा। इसको लेकर मांग उठाने वाले छात्र शक्ति के अध्यक्ष भीम सिंह सैनी ने सोशल साइट्स के जरिए बानसूर एवं आसपास के छात्र-छात्राओं से समर्थन मांगा है।
उल्लेखनीय है कि बानसूर कस्बे में शिक्षा की दृष्टि से उचित वातावरण है। यहां सरकारी व गैर सरकारी विद्यालय तो काफी हैं लेकिन सरकारी महाविद्यालय एक भी नहीं है। जिसके चलते यहां के युवा छात्र-छात्राओं को 15-20 किलोमीटर प्रतिदिन काॅलेज के लिए अप-डाउन करना पड़ता है। सर्दी और बरसात के मौसम में छात्राओं के लिए काॅलेज से घर और घर से काॅलेज तक का सफ़र नासूर बन जाता है। कारण कि आसपास के गांव ढ़ाणियों से चलकर छात्र-छात्राओं को पहले बानसूर पहुंचना होता है और फिर बानसूर से अन्य साधन से काॅलेज। इस दौरान अध्ययनकाल में से काॅलेज छात्र-छात्रा 4-5 घण्टे यात्रा में ही गंवा देते हैं।
...कहने का अर्थ है बानसूर एवं इसके आसपास के युवाओं के लिए बानसूर में काॅलेज का ना होना, यहां के युवाओं की प्रगति में बाधक-सा बन पड़ा है। गरीब विद्यार्थी के लिए सी.सैकण्डरी के बाद स्नात्तक की पढ़ाई टेढ़ी खीर हो जाती है। या तो उसे भारी फीस चुकाकर आसपास के गैर सरकारी महाविद्यालय में प्रवेश लेना पड़ता है या फिर अलवर व कोटपूतली शहर में रहने के लिए किराए पर कमरा लेना पड़ता है। प्रशासन से युवाओं की अपेक्षा है कि यहां शीघ्र महाविद्यालय खुलवाने का प्रयास करे।
;आपकी इस खबर पर क्या राय/विचार हैं हमें ई-द्वारा सूचित करें। ई-मेल newschakra@gmail.com

12.1.15

एक सफ़र.... जिंदगी से जिंदगी के लिए..

एक सफ़र.... जिंदगी से जिंदगी के लिए....
कृपया पूरा विडियो देखें...और अच्छा लगे तो शेयर करें...
और देखें...
http://youtu.be/kYMVeyRfE78

https://www.facebook.com/video.php?v=788731317829308&set=vb.100000773404592&type=2&theater

26.12.14

कड़ाके की ठंड के बीच गरीब को राहत देने पहुंचा ‘सफर’


कोटपूतली। कड़ाके की ठंड के बीच गरीब को राहत देने के उद्देश्य से सफर संस्था की ओर से कोटपूतली पुलिया, सुन्दरपुरा रोड़, मानसरोवर काॅलोनी, लक्ष्मीनगर और बानसूर रोड़ पर गाडि़या लुहार परिवार, झाडू बनाने वाले और बंजारा बस्ती में गर्म ऊनी कपड़े, कम्बल और बच्चों को बिस्कुट वितरित किए गए। सफ़र के साथी पत्रकार विकास वर्मा ने बताया कि सफर संस्था पिछले 10 दिनों से कोटपूतली शहरवासियों से पुराने कपड़े एकत्रित कर रही थी। इस दौरान संस्था को करीब 150 पुराने गर्म कपड़े और 43 कम्बल प्राप्त हुए थे। जिन्हें सफर के साथियों ने गरीबों में वितरित किया। इस दौरान सफर के साथी अनिल दौसोदिया, बृजभूषण कौशिक, समाजसेवी बालकृष्ण सैनी, अभिषेक एवं गितांजलि कौशिक सहित सफर के अन्य साथी मौजूद थे।

10.9.14

अव्यवस्थाओं की भेंट चढ़ा भामाशाह कैम्प


कोटपूतली। तहसील की गोरधनपुरा ग्राम पंचायत के लिए राजीव गांधी सेवा केन्द्र, गोरधनपुरा पंचायत पर लगा भामाशाह योजना शिविर घोर अव्यवस्थाओं की भेंट चढ़ गया। शिविर में भारी संख्या में महिलाऐं परिवार सहित भामाशाह एवं आधार कार्ड बनवाने पहंुची, लेकिन उपस्थित भीड़ के समक्ष सरकारी लवाजमा बौना नजर आया। नतीजतन धीमी कार्य गति से नाराज ग्रामीणों का रह-रहकर आक्रोश फूट पड़ा। कार्य में शीथिलता से नाराज ग्रामीणों ने एकबारगी तो राजीव गांधी सेवा केन्द्र का मुख्य चैनल गेट को हिला-हिलाकर तोड़ने की भी कौशिश की, जिस पर मौके पर मौजूद तहसीलदार ने बुजुर्ग ग्रामीणों की सहायता से आक्रोशित युवाओं को शांत कराते हुए स्थिति पर काबू पाया, और व्यवस्था बनाने के लिहाज से स्वयं ही चैनल गेट के दरवाजे पर कुर्सी डालकर बैठ गए।
    शिविर में नाराजगी इस कदर थी कि भामाशाह कार्ड बनवाने आयी बबिता देवी, मणि देवी, जयप्रकाश यादव इत्यादि ने बताया कि शिविर भरे जा रहे फार्मों में भारी त्रृटियां की जा रही हैं। किसी का नाम गलत तो किसी बच्ची की आय ही 20 हजार सालाना दिखा रहे हैं। कृषक को मजदूर और मजदूर को कृषक दिखाने जैसी त्रृटियां तो बहुत ज्यादा हैं। वहीं आसपुरा ग्राम के जलदीप, अनिल यादव व रामस्वरूप ने बताया कि शिविर में ‘मुंह देखकर तिलक किया जा रहा है’, गांव के अब तक मात्र 7 फार्म ही जमा किए गए हैं।
प्रधानमंत्री जनधन योजना में उमड़े लोग
वहीं दूसरी ओर राजीव गांधी सेवा केन्द्र परिसर में ही लगे प्रधानमंत्री जनधन योजना शिविर के तहत 124
बैंक खाते खोल गए। इस शिविर के प्रति लोगों का अच्छा रूझान देखा गया था ग्रामीणों में संतुष्टि भी देखी गई। शिविर में एक दिन पहले 272 ग्रामीणों के बैंक खाते खोले गए थे। शिविर में बैंक मित्र धर्मपाल, रणजीत, त्रिलोक चंद, सहायिका सरोज देवी एवं यूको बैंक कोटपूतली शाखा के सहायक प्रबंधक अनिल कुमार ने अपनी सेवाएं दी। सहायक प्रबंधक अनिल कुमार ने बताया कि जनधन योजना के तहत लोगों में अच्छा आकृषण देखने को मिल रहा है तथा ग्रामीणों के संतोष एवं सहयोग के साथ ही हमने दो दिन में 396 खाते खोल दिए हैं।

8.9.14


राजस्थान कौशल एवं आजीविका विकास निगम की ओर से एक दिवसीय निःशुल्क रोजगार परामर्श सेमीनार आयोजित

कोटपूतली। राजस्थान कौशल एवं आजीविका विकास निगम की ओर से कस्बे के अमरपुरा रोड़ स्थित सजना पब्लिक सी सैकण्डरी स्कूल में एक दिवसीय निःशुल्क रोजगार परामर्श सेमीनार का आयोजन किया गया। सेमीनार में निगम के जिला कार्यकर्ता विशाल, योगेश एवं हनुमान सहाय शर्मा ने उपस्थित सैकड़ों युवाओं को टेलरिंग के क्षेत्र में रोजगार एवं स्वरोजगार प्राप्त करने की जानकारी देते हुए बताया कि राजस्थान कौशल एवं आजीविका विकास निगम प्रदेश के गरीब, ग्रामीण, अनुसूचित जाति-जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग व बीपीएल सहित समाज के विभिन्न वर्गाें के 16-35 साल के बेरोजगार युवाओं को रोजगार एवं स्वरोजगार उपलब्ध कराने में मदद करता है। इसके तहत न्यूनतम 8 वीं पास योग्यता धारक युवा भी आवेदन कर सकता है।
    निगम के जिला कार्यकर्ता हनुमान सहाय शर्मा एवं योगेश ने जानकारी दी कि निगम का उद्देश्य राज्य के बेरोजगार युवक-युवतियों को विभिन्न कौशल प्रशिक्षण जैसे सुरक्षा गार्ड, भवन निर्माण, कार्यालय प्रबंधन, हाॅस्पिटेलिटी, आई.टी., अकाउण्ट्स इत्यादि क्षेत्र में प्रशिक्षण दिलाना एवं उन्हें राज्य एवं राज्य के बाहर रोजगार हेतु तैयार करना है। शर्मा ने बताया कि टेलरिंग के क्षेत्र में प्रशिक्षण के पश्चात प्रशिक्षणार्थी को रेमण्ड कम्पनी में नौकरी दी जाती है। रेमण्ड जो ब्रांडेड वस्त्र फैशन रिटेलर हैं राजस्थान सरकार के उद्योग विभाग एवं आरएसएलडीसी के सहयोग से बेरोजगार युवाओं को रोजगार सुनिश्चितता की व्यवस्था करता है।
    सेमीनार में करीब 150 युवाओं ने हिस्सा लिया। सेमीनार का संचालन सजना पब्लिक सी सै स्कूल के संचालक धर्मवीर कुमावत ने किया। सेमीनार के दौरान उपस्थित समाजसेवी पूर्णमल का साफा पहनाकर स्वागत किया गया। सेमीनार के अंत में सेमीनार व्यवस्थापक विकास वर्मा ने निगम के जिला कार्यकर्ताओं को धन्यवाद ज्ञापित किया।

19.8.14

एकाग्रता बनाये रखें तो सफलता जरूर मिलती है- रविन्द्र सिंह


सिविल सेवा परीक्षा में 333वीं रैंक हासिल कर आईएएस बने रविन्द्र सिंह से न्यूज चक्र संपादक विकास वर्मा का साक्षात्कार.....

प्रश्न- आईएएस बनने के बारे में कब सोचा और इसके लिए कब से तैयारी आरंभ की?
यह एग्जाम देने का मन मैंने काॅलेज में ही बना लिया था. ग्रेजुएशन करके 6 महीने नौकरी करने के बाद इस्तीफा दे कर मैंने फिर नियमित रूप से इसकी तैयारी शुर्रु कर दी।
प्रश्न- इस परीक्षा में यह आपका कौन-सा अटेम्प्ट था? पहले के प्रयासों से क्या सबक लिए?
यह पूरी तैयारी के साथ मेरा पहला प्रयास था हालांकि कॉलेज में पढ़ते हुए भी मैंने एक प्रयास दे दिया था। सबक लेने के लिए मैंने उन लोगों से संपर्क किया जो पहले से तैयारी कर रहे कर रहे थे ताकि मुझे पता चल सके क्या पढ़ना है और कैसे उत्तर लिखे जाते हैं।
प्रश्न- अपना परिणाम जानने से पहले आप टाॅपर्स के बारे में क्या सोचते थे?
मेरा सदा से यही मानना रहा है की कोई भी मेहनत और लगन के साथ इस परीक्षा में अच्छा स्थान ला सकता हैं और इन गुणों के लिए में उनका बहुत सम्मान करता था
प्रश्न- मुख्य परीक्षा आपने किन-किन ऐच्छिक विषयों को चुना था?
मैथ्स (गणित)
प्रश्न- क्या आपने इस खास परीक्षा के लिए कोई खास स्ट्रेटेजी अपनाई?
कोई ख़ास स्ट्रेटेजी नहीं थी। बस ये ध्यान रखता था की पाठ्यक्रम में से कुछ छूटे नहीं और जो पढ़ा है वह अच्छे से समझ में आये और फिर नियमित रूप से संशोधन और उत्तर लिखने का अभ्यास करता था। साथ ही खुद से सोचता था की कौन कौन से प्रश्न पूछे जा सकते हैं।
प्रश्न- )णात्मक अंकन ;नेगेटिव मार्किंगद्ध के लिए क्या सावधानी बरती?
सिर्फ वही सवाल हल करता था जिसमे या तो सही जवाब पता हो या फिर कम से काम 2 गलत विकल्प हटा दिए हों।
प्रश्न- इस परीक्षा में बैठने का निर्णय लेने के बाद आपका पहला कदम सबसे कठिन होता है। शुरू में तैयारी के लिए आपको सही सलाह कहां से मिली?
मैंने इंटरनेट पर टाॅपर्स के ब्लाॅग और इंटरव्यू पढ़कर और पहले से पढ़ रहे साथियों की सलाह से तैयारी आरम्भ की थी की कौनसी किताबें पढ़नी चाहिए इत्यादि।
प्रश्न- काफी उम्मीदवार मुख्य परीक्षा तो पास कर लेते हैं लेकिन साक्षात्कार में असफल हो जाते हैं, आप का साक्षात्कार कैसा रहा? साक्षात्कार हेतु किस प्रकार की तैयारी की?
मेरा साक्षात्कार अच्छा गया था। मैंने पहले ही इंटरनेट पर देख लिया था की किस तरह के प्रश्न पूछे जाते हैं और उसके अनुसार तैयारी की थी और यह भी पाया की साक्षात्कार में सबसे महत्त्वपूर्ण बात यह होती हैं की आप आत्मविश्वास के साथ जाएँ और जितना आता हो सके खुश रहकर जवाब दें और बाकी प्रभु पे छोड़ दें।
प्रश्न- आप झुझंनू के रहने वाले हैं ? क्या झुझंनू से संबंधित कोई प्रश्न भी इंटरव्यू बोर्ड के सदस्यों ने पूछा?
नहीं, मुझसे झुंझुनू से सम्बंधित कोई प्रश्न नहीं पुछा गया था परन्तु राजस्थान में पानी की किल्लत पर प्रश्न पूछा गया था की ISRO ने इस सम्बन्ध में हाल ही में कौनसी परियोजना शुरू की है।
प्रश्न- आज के बदलते आर्थिक परिदृष्य में निजी क्षेत्र में सेवाओं के लुभावने अवसर उपलब्ध होने के बावजूद आप सिविल सेवाओं में बढ़ती प्रतिस्पर्धा के बाद भी गम्भीरता से तैयारी में लगे रहे, आखिर किस चीज ने आपका जोश बरकरार रखा?
सिविल सेवा देश के विकास में योगदान देने और समाज के लिए कुछ करने का अवसर देती है और सैलरी भी अच्छा जीवन व्यतीत करने के लिए पर्याप्त होती है। यह सब निजी क्षेत्र में काम करके भी किया जा सकता है लेकिन सिविल सेवा में अच्छा काम करने के अवसर ज्यादा होते हैं। मैं इस अवसर को खोना नहीं चाहता था इसलिए अच्छे से तैयारी करने का मन बना लिया।
प्रश्न- आपको किस तरह और कब सिविल सेवाओं की गरिमा एवं महत्व का अनुभव हुआ?
मुझे शुरू से ही अखबार पढ़ने और आस पास की चीज़ों को जानने की उत्सुकता थी जिस वजह से मुझे पता चला की सिविल सेवक देश के प्रशासन में बहुत महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।
प्रश्न- आप ने शिक्षा कहां से हासिल की?
मैंने IIT Bombay से कंप्यूटर विज्ञान में B.Tech. एवं मैनेजमेंट में माइनर डिग्री की है।
प्रश्न- आप अपने और अपने परिवार के बारे में कुछ बताएं ?
मेरे पिताजी श्री देवकरण सिंह अभी इनकम टैक्स विभाग में संयुक्त आयकर अधिकारी के पद पर कार्यरत हैं। माँ श्रीमती सुशीला सिंह गृहणी हैं। मेरी दो बड़ी बहनें हैं - प्रीति सिंह पलसानियां एवं स्वाति सिंह और दोनों डाॅक्टर हैं। एक जीजाजी डाॅक्टर महेंद्र पलसानियां कोटपुतली में हैं और जीजाजी डाॅक्टर मंजीत सिंह जयपुर में। मुझे खाली समय में बैडमिंटन खेलना और कंप्यूटर में प्रोग्रामिंग करना पसंद है।
प्रश्न- सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी कर रहे यूथ को आप क्या सुझाव देंगें ?
इस परीक्षा की अवधि बहुत बड़ी है, इसलिए यह आवश्यक होता है की हम हर समय एकाग्रता बनाये रखें और परिणाम के बारे में चिंतित होने की जगह मेहनत करने पे ध्यान रखें। बाकि पढ़ने के तरीका तो सबका अलग होता है।
प्रश्न- आज के दौर में अधिकांश बच्चे और युवा मोबाइल, मीडिया और मनी के चलते भटकाव की स्थिति में हैं, क्या आप इस से सहमत हैं?
मोबाइल, मीडिया आदि अपने आप में बुरी चीज़ें नहीं हैं, हमारे ऊपर है कि हम उनसे ज्ञान प्राप्त कर और लोगों से संचार करके उनका लाभ उठाएं या व्यर्थ के काम में आप समय गवाएं। इस तरह से हमें अपने विवेक का उपयोग करते हुए आधुनिक प्रोध्योगिकी का लाभ उठाना चाहिए।

18.8.14

ओवरलोड चलते हैं, और...पलट जाते हैं...यमदूत बनकर

    यह किसी फिल्म का सीन नहीं, बल्कि एक ऐसी दुखद हकीकत है, जिसे कोटपूतली के बाशिंदे हर रोज झेलते हैं। गांव से मजदूरी पर निकला कोई मजदूर हो या किसी कम्पनी का ओहदेदार प्रशासनिक अधिकारी।...हर किसी के जहन में बस एक ही डर रहता है कि पता नहीं ‘कोटपूतली क्राॅस ’ हो पाएगा कि नहीं? पता नहीं जाम में फंस जांए या जान ही चली जाए।
    कोटपूतली में सर्विस लाइन को लेकर आए दिन होने वाली दुर्घटनाऐं इसी ओर इशारा करती हैं कि ‘यहां चलना खतरे से खाली नहीं हैं।’  अगर यकीन ना हो तो कोटपूतली मैन चैराहे से लक्ष्मीनगर मोड़ तक की सर्विस लाइन के हालात देख आइए। यकीनन आपके चेहरे का रंग तो बदरंग नजर आएगा ही सेहत भी डाॅक्टर की सलाह लेने को कहने लगेगी।
    ...लेकिन इन सब से शायद हमारे जनप्रतिनिधियों और प्रशासनिक अधिकारियों को कोई खास मतलब नहीं है, तभी तो दिन में एक-दो दफा़ यहां से अगर गुजरते भी हैं तो आंखे मूंदकर। (ऊपर) न्यूज चक्र द्वारा कोटपूतली पुलिया से डाबला रोड़ पर ली गई ये तस्वीरें ओवरलोडेड डम्परों की स्पष्ट तस्वीरें बता रही हैं कि दिनदहाड़े कैसे कोटपूतली प्रशासन के नाक के नीचे ओवरलोडेड वाहनों का आवागमन होता है।...और तो और किसी ओवरलोड वाहन द्वारा रास्ता जाम हो जाने पर उसके खिलाफ कोई खास कार्रवाही नहीं होती।
    यह सब यहां कोटपूतली के बाशिंदे भुगतने को मजबूर हैं।
    ऐसे ही पीड़ा से तंग आकर कोटपूतली नगरपालिका के वार्ड 12 के पार्षद भीखाराम सैनी ने निर्माण कम्पनी के परियोजना निदेशक सुभाष जानू व एक डम्पर ड्राइवर पर नामजद इस्तगासा पेश किया है। वहीं दूसरी ओर मोलाहेड़ा गांव के बाशिंदांे ने भी गांव के मुख्य द्वार के सामने केवल राहगीरों के लिए अण्डरपास देने का विरोध करते हुए राजमार्ग को आधे घण्टे तक जाम कर विरोध दर्ज कराया। जबकि समस्या लक्ष्मीनगर मोड़, गोपालपुरा मोड़ एवं बीडीएम अस्पताल के मरीजों के लिए भी नासूर बनी हुई है।

4.8.14

युवती ने किया आत्महत्या का प्रयास


https://www.facebook.com/vikasverma.kotputli

Date- 4/8/2014
कोटपूतली बडाबास मौहल्ला निवासी एक युवती ने पैडोसी युवक के द्वारा परेशान किये जाने पर अपने हाथ की नसें काट ली। स्थिति गंभीर होने पर उसे राजकीय अस्पताल में दाखिल करवाया गया। युवती की हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है । परिजनो व युवती के अनुसार पड़ोस में ही रहने वाला एक युवक मोबाइल में वीडीयों रिकोर्डिग करने के बाद सार्वजनिक करने की धमकी देकर युवती पर जबरन शादी करने का दबाव बना रहा है । जिससे तंग आकर युवती ने अपने हाथ की नशे काट ली ।
पुलिस ने अस्पताल पहुचकर युवती से पुछताछ की । पुलिस मामले की जांच कर रही है। राजकीय अस्पताल में युवती के बयान लेने पहुंचे थाना प्रभारी लक्ष्मीकान्त शर्मा के अनुसार वह मामले की जांच कर रहे हैं। अभी तक एक पडोसी युवक के दवारा परेशान करने की बात सामने आई है ।

27.7.14

झाडि़यों के बीच मिली जिंदा बच्ची

click here...
http://youtu.be/o1pYkKABxfo
इसे इतना शेयर करो कि बच्ची के दर्द की आवाज बेरहम ‘मां’ तक पहुच जाए।

कोटपूतली के ग्राम गोपालपुरा के समीप आज (27/07/2014) सुबह जिंदा नवजात बच्ची मिली है। बच्ची को बेरहम ‘मां’ ने झाडि़यों के बीच पटका हुआ था, जिस पर चिंटिया लगने लग गई थी। झाडियों एवं चिंटियों के खरोच के निशान बच्ची पर आसानी से देखे जा सकते हैं। बच्ची को संभवतया आज तड़के ही झाडियों में पटका गया था, सुबह शौच के लिए निकले ग्रामीणों ने बच्ची के रोने की आवाज सुनकर बच्ची को संभाला और कोटपूतली पुलिस को सूचना दी। कोटपूतली पुलिस ने तत्परता बरतते हुए बच्ची को कोटपूतली के राजकीय बीडीएम अस्पताल में भर्ती करवाया, जहां बच्ची का इलाज जारी है। पुलिस व डॉक्टरों के अनुसार बच्ची संभवतया दो या तीन पहले पैदा हुई है। पुलिस बच्ची के निर्दयी मां-बाप की तलाश में जुट गई है।

20.7.14

बालवाहिनी के नाम पर ‘दुघर्टना वाहिनी’ दौड़ा रहे स्कूल

बालवाहिनी के नाम पर ‘दुघर्टना वाहिनी’ दौड़ा रहे स्कूल

    कोटपूतली। कस्बे में सैकडों निजी विद्यालय हैं जिनमें परिवहन व्यवस्था के लिये बाल वाहिनी के नाम पर स्कूल संचालकों ने बसों व टैम्पों की व्यवस्था कर रखी है लेकिन सुरक्षा मानकों को लेकर ना कोई संस्था गंभीर है और ना ही परिवहन विभाग और ना ही अभिभावक। नतीजतन संस्था प्रधानों द्वारा मामूली से लालच को लेकर छात्र छात्राओं की जिंदगी के साथ सरेआम खिलवाड किया जा रहा है। शिक्षा विभाग व परिवहन विभाग की उदासीनता के चलते निजी विद्यालय परिवहन के नाम पर छात्रों के अभिभावकों से मोटी रकम वसूल कर रहे हैं लेकिन सुरक्षा व्यवस्थाओं की बात करें तो इन संस्थाओं में ढाक के तीन पात नजर आते हैं। बीस सीटर मिनी बसों में चालीस से पचास विद्यार्थियों को ठूंस ठूंस कर भर दिया जाता है जिससे आये दिन बाल वाहिनियों से मासूम छात्रों व उनके परिवार की जिंदगी तबाह हो रही है।     स्कूल संचालकों के जरा से लालच की वजह से आए दिन स्कूली छात्र दुघर्टना का शिकार होते रहते हैं। पिछले दिनों ऐसी ही लापरवाही की वजह से एक छात्र अपना जीवन गंवा बैठा, जब बाल वाहिनी के नाम पर एक ट्रेवल्स कम्पनी की निजी बस बिना परिचालक के करीब पचास छात्रों को लेकर राजनौता की ओर से गोरधनपुरा चैकी स्थित एक प्राइवेट स्कूल आ रही थी। तभी अचानक ब्रेकर आने से स्कूली छात्र बस से दरवाजे से नीचे जा गिरा जिस पर बालवाहिनी ;बसद्ध का पिछला टायर छात्र के सिर को कुचलता हुआ आगे बढ गया। जिससे उसकी मौत हो गई। ;यहां हमने जानबूझकर स्कूल का नाम नहीं दिया है, क्योंकि यह स्थिति केवल उक्त स्कूल की ही नहीं अपितु कोटपूतली क्षेत्र के लगभग हर स्कूल की है। जहां अभिभावकों एवं बच्चों को वाहन सुविधा के नाम पर ना केवल लूटा जा रहा है बल्कि भंयकर लापरवाही बरतते हुए हादसों को भी न्योता दिया जा रहा है।
    यहां हादसे को टाला जा सकता था, प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि बस तेज गति से लहराती हुए ब्रेकर से कूद गई जिसमें क्षमता से अधिक बच्चे भरे हुए थे। यदि बस में परिचालक होता और बस का दरवाजा बंद होता तो हादसे को टाला जा सकता था लेकिन मामूली रूपयों की बचत ने एक परिवार का चिराग बुझा दिया।
स्कूल के टैम्पों में बजते है अश्लील फिल्मी गानें- यहां अभिभावकों से न्यूज चक्र का एक गंभीर सवाल है, क्या आपने कभी अपने बच्चे की ‘वाहन सुविधा’ चेक की है? क्या आपने देखा है कि आपके द्वारा भारी फीस दिये जाने के बाद भी आपका बच्चा बालवाहिनी ;टैम्पों या बसद्ध मंे कैसे आता है? उसे सीट मिलती है या घर तक पहुंचाने के लिए उसे किसी तरह भेड़ बकरियों की तरह बस ‘ठूंस ’ लिया जाता है। अगर अभी तक आपने नहीं देखा तो देखें, और साथ ही बच्चे से यह भी पूछें कि क्या स्कूल से घर तक के सफर के दौरान वाहन में किसी तरह के गाने भी बजते हैं।
    यहां हमारे सवांददाता ने देखा है कि कुछेक स्कूली टैम्पों में फूहड़ व अश्लील गाने तक बजते रहते हैं।

28.1.13

मीडिया की समस्याओं व चुनौतियों पर मंथन

राजस्थान पत्रकार परिषद् की बैठक




फोटो- पत्रकारों को संबोधित करते राजस्थान पत्रकार परिषद् के जयपुर ग्रामीण जिलाध्यक्ष आनंद पंडित एवं फोटो में left से second विकास वर्मा (संपादक, न्यूज चक्र)



कोटपूतली । राजस्थान पत्रकार परिषद् के जयपुर ग्रामीण जिलाध्यक्ष आनंद पंडित की अध्यक्षता में संगठन से जुड़े पत्रकारों की एक बैठक आयोजित हुई। होटल आरटीएम में आयोजित बैठक में पत्रकारों से जुड़ी समस्याओं व चुनौतियों पर विचार-विमर्श किया गया। इस मौके पर जिलाध्यक्ष आनंद पंडित ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि आज पत्रकारिता के क्षेत्र में मीडिया से जुड़े लोगों के लिए नई चुनौतियां सामने आ रही हैं, इन पर समय रहते ध्यान दिया जाना जरूरी है। उन्होंने कहा कि जयपुर ग्रामीण ही नहीं, बल्कि राजस्थान भर के पत्रकारों के हित में कल्याणकारी कदम उठाने के लिए संगठन प्रदेश स्तर पर काम कर रहा है। पंडित ने एकजुटता पर जोर देते हुए तथ्यों व सच्चाई को सामने रखकर खबर लिखने की बात भी कही। संगठन के उपाध्यक्ष दिनेश मोरीजावाला ने कम से कम तीन माह में एक बैठक आयोजित करने का सुझाव देते हुए मीडिया से संबंधित किसी भी समस्या को लेकर अध्यक्ष को अवगत कराने की बात कही। उन्होंने कहा कि स्वाभिमान को मजबूत रखते हुए पत्रकारों को पीत पत्रकारिता से परे हटकर सकारात्मक सोच के साथ कार्य करना चाहिए। इस मौके पर महासचिव विपिन पारीक, कोषाध्यक्ष दिनेश अग्रवाल, कार्यालय सचिव ओमप्रकाश शर्मा, सुभाष भार्गव, अमित यादव, दीपक भारद्वाज व विकास वर्मा (संपादक, न्यूज चक्र) ने भी अपने विचार रखे।
बैठक में रमाकान्त शर्मा, अनिल कौशिक, संयुक्त मंत्री राजकुमार गर्ग व नवीन गर्ग, अनिल शरण बंसल, पुरूषोत्तम भारद्वाज, बालकृष्ण शुक्ला, शिवकुमार गुप्ता, राजेन्द्र कुमार शर्मा, महेश सैनी, मक्खन लाल जांगिड़, सुबेसिंह गुर्जर, सतीष शर्मा, रामप्रकाश बंसल, श्रीकांत मिश्रा, गोपाल शर्मा, अनिल शर्मा, सीताराम गुप्ता, महेश सैनी, मयंक शर्मा, इन्द्राज आर्य, आलोक शरण, अनिल शर्मा (पीटीआई), सुरेश कुमार, राजकुमार शर्मा व धर्मेन्द्र बंसल समेत अन्य पत्रकार मौजूद थे।


26.12.12

खेल व्यक्ति के सर्वांगीण विकास व संस्कृति के पोषक - प्रधान बबिता मीणा

राजपूताना पी. जी. काॅलेज की राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई प्रथम व द्वितीय के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित सात दिवसीय एन. एस. एस. विशेष शिविर के पांचवें दिन अन्तर सदनीय खेल-कूद प्रतियोगिता के दौरान प्रधान बबिता मीणा ने मुख्य अतिथि पद से स्व्यंसेवकों कों सम्बोधित करते हुए कहा कि खेल व्यक्ति के सर्वांगीण विकास व संस्कृति के पोषक तत्त्व हैं। प्रधान ने कहा कि हमें परस्पर भाई-चारे व सैाहार्द्ध के साथ खेलकर राष्ट्रीय एकता का परिचय देना चाहिए। अध्यक्षता करते हुए संस्था प्राचार्य डाॅ. एच. एन. धोलीवाल ने स्वयंसेवकों से कहा कि खेल हमारी संस्कृति व राष्ट्रीय एकता के सूचक है। कार्यक्रम के बाद प्रधान बबिता मीणा ने महिला कबड्डी प्रतियोगिता का शुभारम्भ किया। कबड्डी (महिला) प्रतियोगिता में ’लक्ष्मीबाई‘ दल विजेता रहा। महिला 100 मीटर दौड़ प्रतियोगिता ग्रुप ’ए‘ में सुमन यादव ,सुशीला व मनीषा यादव तथा ग्रुप ’बी‘ में सुमन गुर्जर, मंजु सैनी व प्रियंका शर्मा ने क्रमशः प्रथम, द्वितीय व तृतीय स्थान प्राप्त किया। 200 मीटर महिला दौड़ में सुमन गुर्जर, मंजु सैनी,व ममता सैनी तथा 100 मीटर पुरूष दौड़ प्रतियोगित में शैतान स्वामी, देशराज गुर्जर व महेन्द्र कुमार आर्य ने क्रमशः प्रथम, द्वितीय व तृतीय स्थान प्राप्त किया। इसी प्रकार क्रिकेट पुरूष प्रतियोगिता में गु्रप ’ए‘ ने 74 रनों से ग्रुप ’बी‘ पर विजय प्राप्त की। मैन आॅफ दा मैच मोजी राम गुर्जर रहे। इस दौरान उपप्राचार्य सुशील सकलानी, व्याख्याता संजय कुमार, कार्यक्रम अधिकारी द्वितीय रघुनन्दन सैन, अन्जु शर्मा, बबीता मित्तल, शारीरिक शिक्षक धर्मवीर चैधरी, व सैकड़ों स्वयंसेवक मौजूद थे।

25.12.12

स्वयंसेवकों ने किया श्रमदान्

कोटपूतली के स्थानीय राजपूताना पी॰ जी॰ काॅलेज की राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई प्रथम व द्वितीय के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित सात दिवसीय विशेष शिविर के चैाथे दिन स्वयंसेवकों द्वारा श्रमदान् किया गया। उप प्राचार्य सुशील सकलानी ने बताया कि इकाई प्रथम के स्वयंसेवकों ने गोद ली गई गढ काॅलोनी व द्वितीय इकाई के स्वयंसेवकों ने गोविन्द विहार में श्रमदान् व सफाई कार्य किया। इस दौरान इकाई द्वितीय के कार्यक्रम अधिकारी रघुनन्दन सैन, व्याख्याता संजय कुमार, दयानन्द गुर्जर, महेन्द्र कुमार गुर्जर आदि साथ उपस्थित थे।

24.12.12

शीला जी शर्म करो, इन दरिदों को फांसी दो

दिल्ली में मेडिकल स्टूडेन्ट के साथ हुए गेंगरेप का गुस्सा कोटपूतली के युवा वर्ग में भी देखने को मिला। युवा रेवाॅल्यूशन के नेतृत्व में युवकों ने कैंडल मार्च किया और दोषियों को फांसी की मांग करते हुए देश में महिला एवं लड़कियों की सुरक्षा की मांग की। रेवाॅल्युशन के स्वयं सेवकों ने ‘शीला जी शर्म करो, इन दरिदों को फांसी दो’ के नारे लगाए। सभी स्वयंसेवकों ने कोटपूतली के नगरपालिका पार्क में मोमबत्तियां जलाई एवं पिड़ता के शीघ्र स्वस्थ होने की प्रार्थना की।

उपभोक्ता की जागरूकता से खाद्य व पेय पदार्थों में मिलावट को रोका जा सकता - राजेन्द्र सिंह

सोमवार को स्थानीय राजपूताना पी॰ जी॰ काॅलेज की एन॰ एस॰ इकाई प्रथम व द्वितीय के सयुंक्त तत्वावधान में आयोजित सात दिवसीय विशेष शिविर के तीसरे दिन राष्ट्रीय उपभोक्ता अधिकार दिवस पर मुख्य अतिथि पद से स्वयंसेवकों को संबोधित करते हूए स्थानीय तहसीलदार राजेन्द्र सिंह ने कहा है कि उपभोक्ता की जागरूकता से खाद्य व पेय पदार्थों में मिलावट को रोका जा सकता है। तहसीलदार ने कहा कि मिलावट करने वाले दोषियों के खिलाफ हमें उपभोक्ता न्यायालय में वाद दायर करना चाहिए। विशिष्ट अतिथि भाजपा जिला मंत्री व भारत विकास परिषद् के जिला अध्यक्ष मुकेश गोयल ने कहा कि नवयुवकों को उपभोक्ता संरक्षण अधिनियम की जानकारी रखकर अपने अधिकारों की रक्षा करनी चाहिए। अध्यक्षता करते हुए संस्था के प्राचार्य डाॅ॰ एच॰ एन॰ धोलीवाल ने स्वयंसेवकों को खाद्य पदार्थो में हो रही मिलावट के बारे में जन जागृति की बात कही। मंच संचालन दयानन्द गुर्जर ने किया। इस दौरान उपप्राचार्य सुशील सकलानी, व्याख्याता संजय कुमार, कार्यक्रम अधिकारी द्वितीय रघुनन्दन सेन, अन्जु शर्मा, बबीता मित्तल, शारीरिक शिक्षक धर्मवीर चैधरी, वरिष्ठ लिपिक केदारनाथ, हेमराज आर्य, नरेश कुमार, कार्यालय सहायक मुकेश मीणा व सैकड़ों स्वयंसेवकों मौजूद थे।

23.12.12

सात दिवसीय एनएसएस विशेष शिविर का शुभारंभ

Add caption

कोटपूतली। स्थानीय राजपूताना स्नातकोत्तर महाविद्यालय में राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई प्रथम व द्वित्तिय के संयुक्त तत्वाधान में सात दिवसीय एनएसएस विशेष शिविर का शुभारंभ हुआ। शिविर का शुभारंभ पंचायत समिति कोटपूतली उप प्रधान मदन रावत, आयोजित कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि प्रहलाद वर्मा एवं अन्य उपस्थित अतिथियों ने मां सरस्वती के समक्ष माल्र्यापण एवं दीप प्रज्जवलित कर किया। इस अवसर पर उप प्रधान ने स्वयंसेवकों से परस्पर समन्वय एवं भाईचारे के साथ समाज सेवा के कार्य करने की बात कही। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे संस्था के प्राचार्य डा एच एन धोलीवाल ने स्वयंसेवकों से बढ चढ़कर समाज सेवा के कार्यों में भाग लेने का आहवान किया। मंच संचालन व्याख्याता दयानंद गुर्जर ने किया। कार्यक्रम में सैकड़ों स्वयंसेवक उपस्थित थे।

23.11.12

यह लिंक आप के लिए महत्वपूर्ण हो सकता है। अभी क्लिक करें...

Earn upto Rs. 9,000 pm checking Emails. Join now!

31.10.12

श्रीमती इन्दिरा गांधी दुनिया की महानतम विभूतियो में एक - यादव


राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रदेश उपाध्यक्ष एंव पीसीसी मैम्बर राजेन्द्र सिंह यादव ने कोटपूतली कांग्रेस कार्यालय में श्रीमती इन्दिरा गांधी की पुण्यतिथि पर पुष्प अर्पित करते हुए कोटपूतली एंव नारेहड़ा ब्लाॅक के कांग्रेसी कार्यकर्ताओ की बैठक की अध्यक्षता करते हुए कहा कि सभी को एकजूट होकर श्रीमती गांधी के सिद्धान्तो के अनुरुप कार्य करना चाहिए तथा कहा कि श्रीमती गांधी दुनिया की महानतम विभुतियो में से एक थी। इन्दिरा जी असाधारण रुप से जुझारु नेता थी एंव उनमें गजब की कल्पनाशीलता व नेतृत्व क्षमता थी जिसके कारण उनके धुर विरोधी भी तारीफ करने से नही चुकते थे। इस अवसर पर कोटपूतली ब्लाॅक के अध्यक्ष बुद्धराम सैनी एंव नारेहड़ा ब्लाॅक के उदयवीर सिंह तंवर ने कार्यकर्ताओ को श्रीमती इंदिरा जी की जीवनी से प्रेरणा लेते हुए कार्य करने की सलाह दी। बैठक में नगर अध्यक्ष एड.अशोक आर्य, युवा नेता विराट यादव, सुबेसिंह चैधरी, महामंत्री मुरलीधर गुप्ता, उपाध्यक्ष सुरजाराम मीणा, पुर्व पालिका अध्यक्ष प्रकाश चन्द सैनी, किसान कांग्रेस के नेता रोशन धनकड़, मुनानुदीन कुरैशी, नगर उपाध्यक्ष इन्द्राज सैनी, शंकरलाल सोनी, प्रवक्ता एड.रोहिताश चैधरी, पूर्णमल दीवान, वीरसिंह चैधरी, रामवतार गुर्जर, ओबीसी के जिलाध्यक्ष सेडूराम कसाणा, राजपाल चैधरी, प्रवक्ता राजबीर यादव, गिरधारी लाल गुरुजी, पूर्णसिंह तंवर, जसवंत माठ, धर्मपाल रावत, गोधराज शर्मा, रविन्द्र यादव एडवोकेट, रामवतार यादव, सुगन कसाणा सहित कांग्रेसी कार्यकर्ता एंव जनप्रतिनिधि मौजूद थे।

28.10.12

लालचंद कटारिया के केन्द्रीय रक्षा राज्य मंत्री बनने पर कोटपूतली में हर्ष का माहौल, बांटी मिठाइयां


लालचंद कटारिया के केन्द्रीय रक्षा राज्य मंत्री बनने पर कोटपूतली में हर्ष का माहौल, बंटी मिठाइयां

कोटपूतली। जयपुर ग्रामीण सांसद व जयपुर जिला देहात कांग्रेस कमेटी के जिलाध्यक्ष लालचन्द कटारिया को देश का नया रक्षा राज्यमंत्री बनाया गया है। कटारिया ने रविवार को राष्ट्रपति भवन के सेन्ट्रल हाल में पद व गोपनीयता की शपथ ली जहा उन्हे राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के जरिये पद व गोपनीयता की शपथ दिलवाई। कटारिया को केंन्द्र सरकार में नई जिम्मेदारी मिलने पर कोटपूतली सहित पूरे जयपुर ग्रामीण क्षेत्र में हर्ष की लहर दौड़ गई है। कटारिया के मंत्री बनने पर कांग्रेस ओबीसी प्रकोष्ठ के प्रदेश उपाध्यक्ष व पीसीसी मैम्बर राजेन्द्र सिंह यादव ने कहा कि आला कमान ने सांसद कटारिया की योग्यताओ को व काबीलियत को देखते हुए उन्हे रक्षा मंत्रालय की बागडोर सौपी है। उम्मीद है कि कटारिया राष्ट्रहित में रक्षा मंत्रालय को नये मुकाम पर पहुचायेगें।
       स्थानीय कांग्रेस कार्यालय पर रविवार प्रातः कांग्रेसी कार्यकर्ताओ ने यादव को बधाई दी, एंव इसके उपरान्त पीसीसी मैम्बर राजेन्द्र सिंह यादव के नेतृत्व में कांग्रेसी कार्यकर्ता दिल्ली पहुचकर कटारिया के शपथ ग्रहण कार्यक्रम में शामिल हुए। ब्लाक कांग्रेस प्रवक्ता एड.रोहिताश चैधरी ने बताया कि सासंद कटारिया व पीसीसी मैम्बर यादव ने यूपीए अध्यक्षा सोनिया गांधी,प्रधानमंत्री डा.मनमोहन सिंह, कांग्रेस महासचिव राहुल गांधी, केंन्द्रीय रेल मंत्री डा.सी.पी.जोशी, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष डा.चन्द्रभान का आभार जताया है। रविवार सुबह से ही स्थानीय कांग्रेस कार्यालय पर कार्यकर्ताओ का ताता लगा रहा। जहा कार्यकर्ताओ ने मिठाईया बांटकर हर्ष जताया। युका नेता विराट यादव के नेतृत्व में कांग्रेस कार्यालय पर पहुचे युवा कांग्रेसियो के एक दल ने भारी आतिशबाजी कर कांग्रेस आई जिन्दाबाद के नारे लगाकर लडडू बांटे। ग्राम नारेहड़ा व बनेठी में ब्लाक कांग्रेस अध्यक्ष उदयवीर सिंह तंवर के नेतृत्व में कांग्रेसियो ने मिठाईया बांटी, साथ ही अब रक्षा राज्यमंत्री लालचन्द कटारिया के कोटपूतली पहुचने पर भव्य स्वागत की तैयारियां की जा रही हैं। हर्ष व्यक्त करने वालो में ब्लाक कांग्रेस कमेटी नारेहड़ा व कोटपूतली के अध्यक्ष उदयवीर सिंह एवं बुद्धराम सैनी, युकां नेता विराट यादव, सुबेसिंह , रविन्द्र यादव, पुर्व पालिका अध्यक्ष प्रकाश चन्द सैनी, किसान कांग्रेस के नेता रोशन धनकड़, गिरधारी लाल गुरुजी, राजवीर सिंह, उपाध्यक्ष पूर्ण सिंह तंवर, गोपालपुरा सरपंच धर्मपाल रावत, जयसिंह शेखावत, नगर युकां उपाध्यक्ष इन्द्राज सैनी, समाज सेवी सेठनाहरसिंह, सतपाल कसाणा, ओबीसी के जिलाध्यक्ष सेडूराम कसाणा, जाट समाज के अध्यक्ष रामजीलाल जाखड, भरताराम सरपंच आदि कांग्रेसी कार्यकर्ता मौजूद थे।
किसे क्या मिला...
राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने 22 नए मंत्रियों को शपथ दिलाई गई। इनमें 7 कैबिनेट,13 राज्य मंत्री और दो स्वतंत्र प्रभार के राज्य मंत्री शामिल हैं। पांच राज्य मंत्रियों को प्रमोट कर कैबिनेट बनाया गया है। 
कैबिनेट मंत्रियों में दो नए चेहरे शामिल किए गए हैं। राजस्थान से दो नए चेहरों को मंत्रिमण्डल में शामिल किया गया है। इनमें जोधपुर से सांसद चंद्रेश कुमारी और जयपुर ग्रामीण से सांसद लालचंद कटारिया शामिल हैं। कैबिनेट फेरबदल में युवा चेहरों की बजाय अनुभवी नेताओं को तरजीह दी गई है। आंध्र प्रदेश और पश्चिम बंगाल का मंत्रिमण्डल फेरबदल में खास ध्यान रखा गया है। माना जा रहा है कि यह फेरबदल वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव का संभवत: अंतिम फेरबदल है। 
केन्द्रीय मंत्री
के रहमान खान-(नया चेहरा)कर्नाटक से सांसद
दिनशा पटेल-प्रमोशन(खदान राज्य मंत्री थे) गुजरात से सांसद
अजय माकन-प्रमोशन(पहले स्वतंत्र प्रभार के खेल मंत्री थे)
चंद्रेश कुमारी-(नया चेहरा)जोधपुर से सांसद
एमएम पल्लम राजू-प्रमोशन(रक्षा राज्य मंत्री थे)
अश्विन कुमार-प्रमोशन(विज्ञान और तकनीकी राज्य मंत्री थे)
हरीश रावत-प्रमोशन(संसदीय कार्य और कृषि राज्य मंत्री थे)
राज्य मंत्री
शशि थरूर,के.के.सुरेश,तारिक अनवर,के जयप्रकाश रेड्डी,ए एच खान चौधरी,अधीर रंजन चौधरी,रानी राना,एस सत्यनारायण,निनांग इरिंग,बलराम नाइक,दीपादास मुंशी, लालचंद कटारिया, कृपा रवि किल्ली।
राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार
मनीष तिवारी(नया चेहरा), चिरंजीवी(नया चेहरा)

22.10.12

इंडिया अगेन्स्ट करप्शन कार्यकर्ताओ ने कानून मंत्री का पुतला फूंका



आज दिनांक 22.10.2012 को स्थानीय आजाद चौक में इंडिया अगेंस्ट करप्शन कार्यकर्ताओ ने कानून मंत्री सलमान खुर्शीद का पुतला फूंका । उल्लेखनीय है कि खुर्शीद पर केजरीवाल ने भ्रष्टाचार के आरोप लगाये थे, जिसके बाद सलमान खुर्शीद के संसदीय क्षेत्र में इंडिया अगेन्स्ट करप्शन कार्यकर्ताओ पर हमला हुआ था। आई ए सी समर्थकों का मानना है कि हमला कानून मंत्री के निर्देश पर ही हुआ है। जिसका विरोध प्रदर्शन  करते हुए इंडिया अगेन्स्ट करप्शन कार्यकर्ताओ ने आज कोटपुतली में उसका पुतला फूंका तथा मुर्दाबाद के नारे लगाये ! पुतला फूंकने वालो में आई ए सी कार्यकर्त्ता मनोज चौधरी, अशोक शर्मा, सामाजिक कार्यकर्ता  दीपक वशिष्ठ , एडवोकेट दिनेश अग्रवाल, डा. रोहित गुप्ता, किसान नेता प्रकाश खोजा, कमल जोशी, व्यापर संघ के निर्मल गुप्ता, प्रोपर्टी डीलर सतीश पंचाल, वाई आर अल्प संख्यक मोर्चा के अनवर खान, नदीम खान, वसीम,  स्टूडेंट फेडरेशन के सौरभ शर्मा, हितेश शर्मा छात्र नेता, मनोहर पायला, संदीप मीना, शक्ति शर्मा, अभिषेक अहलुवालिया आदि लोग मौजूद थे।